द फैंटम (The Phantom)

The Phantom: ‘द फैंटम’, वेताल, चलता फिरता प्रेत और भी कई नाम हैं उसके. जब इस किरदार को गढ़ा गया तब श्री ली फाक ने भी नहीं सोचा होगा की इस पात्र को पूरे विश्व में इतनी लोकप्रियता मिलेगी. हालाँकि उन्होंने इसके पहले जादूगर मैनड्रैक का किरदार रच दिया था जो एक समाचार पत्र में प्रकाशित होता था लेकिन फैंटम जैसी लोकप्रियता शायद ही किसी और नायक को मिली हो जिसे कई देशों और साम्प्रदायिक भाषाओँ में अनुवादित कर पाठकों तक पहुँचाया गया. इसके सर्वअधिकार “किंग फीचर सिंडिकेट” के पास हैं जिसे लाइसेंस में लेकर कई प्रकाशकों ने इसे पिछले कई दशकों में प्रकाशित किया.

पढ़ें फैंटम के उपर हमारा पूर्व प्रकाशित रोचक लेख: अख़बार और कॉमिक्स की पट्टिकायें (कॉमिक्स स्ट्रिप) – भाग 1

The Phantom - Hermes Press
Newspaper Comic Strip
The Phantom – Hermes Press 
पात्र परिचय

फैंटम का असली नाम क्रिस्टोफर है. वह अपने चेहरे पर नक़ाब धारण करता है और जंगल के कई कबीलों से उसके अच्छे संबंध है, कई लोग उसे जंगल का देवता भी कहते है. उसकी उम्र किसी को ज्ञात नहीं लेकिन किवदंतियों में उसे कई सौ साल का बताया जाता है. क्रिस्टोफर की कहानी एक समुद्री जहाज से शुरू होती है जिसे क्रिस्टोफर कोलम्बस का बताया गया है. समुद्री डाकुओं के हमले में उसके पिता की मौत हो जाती है और बालक क्रिस्टोफर एक समुद्री तट पर आ जाता है और वहां बालक क्रिस्टोफर को अपने पिता खोपड़ी प्राप्त होती है जिस पर हाँथ रखकर वो एक शपथ लेता है की ताउम्र वह बुराई के खिलाफ लड़ाई करेगा और अत्याचारियों एवं दमंकर्ताओं को अंत करेगा. इस शपथ का यूँ ही उसकी सभी पीढ़ियों को पालन करना पड़ेगा.

फैंटम को भारत में लोकप्रिय करने वाली थी ‘इंद्रजाल कॉमिक्स‘. सबसे पहले भारतीय पाठकों को रूबरू इंद्रजाल कॉमिक्स ने ही फैंटम से करवाया पर यहाँ जब वह हिंदी में अनुवादित हुआ तो उसका नाम रखा गया “वेताल”. इसे कई भाषाओं में छापा गया और एक दौर यह भी था जब हर हफ्ते इनका मुद्रण होता था एवं बाद में कई अन्य प्रकाशकों ने भी इसे किंग फीचर से लाइसेंस लेकर मुद्रित किया.

The Phantom - Indrajal Comics
The Phantom – Indrajal Comics

पब्लिकेशन: इंद्रजाल कॉमिक्स / डायमंड कॉमिक्स / एग्मोंट / यूरो बुक्स / रीगल पब्लिशर्स

नाम: फैंटम

आल्टर ईगो: क्रिस्टोफर वॉकर

गुरु: तत्कालीन मौजूदा फैंटम या भूतपूर्व फैंटम

कार्यक्षेत्र: देंकाली के जंगल, भारत

कर्म: अपराधियों, बदमाशों, पोचेर्स, तस्कर और माफ़िया का कट्टर दुश्मन

परिवार एवं दोस्त: डायना पाल्मर (पत्नी), किट एवं हेलोइस वॉकर (बच्चें), जादूगर मैनड्रैक (दोस्त)

फैंटम के कॉमिक्स खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें – फैंटम कॉमिक्स

Diamond Comics Phantom
Phantom 01
Diamond Comics
ताकत –
  • फैंटम एक आम इंसान ही है लेकिन उसने ट्रेनिंग से खुद को चपल, फुर्तीला, बलशाली बनाया है एवं इन सबकी चरमसीमा को प्राप्त किया है .
  • फैंटम एक शूटिंग एक्सपर्ट है, कहते है उसका निशाना कभी नहीं चूकता.
  • फैंटम के पास एक शिकारी चाक़ू और दो बंदूक है जिसे वो समय समय पर अपनी जरुरत के हिसाब से इस्तेमाल करता है.
  • फैंटम के पास उसकी विख्यात गन बेल्ट भी है जहाँ पर वह इन हथियारों को रखता है.
  • तलवारबाज़ी में उसका कोई मुकाबला नहीं, वह पल में अपने दुश्मन को धराशाई कर सकता है.
Chalta Firta Pret - Phantom - Diamond Comics Hindi
Chalta Phirta Pret – Phantom
Diamond Comics Hindi
तथ्य –
  • फैंटम की उम्र हज़ारों साल है लेकिन यह सच नहीं है, असल में यह पीढ़ी दर पीढ़ी चला आ रहा है.
  • फैंटम का आल्टर ईगो क्रिस्टोफर वॉकर पहले एक ऐयाश किस्म का गढ़ा गया था जिसे बाद में जंगलों में बसा दिखाया गया ‘ली फाक’ के द्वारा.
  • फैंटम के पास एक पालतू भेड़िया है जिसका नाम डेविल है, इसके अलावा उसके पास एक पालतू घोड़ा भी है.
  • फैंटम दोनों हाथों में अंगूठियाँ पहनता है – एक क्रॉस तलवार के जैसे निशान वाली और दूसरी खोपड़ी वाली. पहली अंगूठी उसका सुरक्षा चिन्ह है वहीँ दूसरी उसके विरोधियों का काल. इसके निशान सदा के लिए छाप छोड़ जाते है.
  • फैंटम के उपर कॉमिक्स, फिल्म, गेम और एनीमेशन सीरीज़ तक आ चुकी है.
  • एक प्रचलित कहावत के अनुसार फैंटम एक साथ कई जगहों पर उपस्थित रह सकता है.
टीम

फैंटम किंग फीचर का लाइसेंस किरदार है इसलिए उनके करार के अनुसार आप इसमें फेरबदल भी कर सकते है, नयी कहानी भी रच सकते है वो भो नए चित्रों के साथ लेकिन इसके रचियता हमेशा श्री ली फाक ही रहेंगे. श्री रे मूरे और श्रीमान स्य बेरी का आर्ट भी कई पाठकों को खासा पसंद है. फैंटम एक विदेशी पात्र है लेकिन यहाँ पर हमने उसके भारतीय इतिहास के अनुकूल लेख ही लिखा है. कुछ लोग यह भी कहते है की ली फाक भारत से काफी प्रेरित थे इसलिए फैंटम में आपको काफी नाम मिलते जुलते मिल जाएंगे जैसे प्रख्यात अपराधी गिरोह – ‘सिंह ब्रदरहुड’.

Phantom Hindi Comics - Diamond Comics
The Phantom
Diamond Comics Hindi

बहरहाल फैंटम पर पूरी किताब लिखी जा सकती है, इस साल फैंटम को 85 वर्ष पूरे हो गए है कॉमिक्स जगत में और इस बात में कोई अतिश्योक्ति नहीं है कहने में की फैंटम ने नायकों की एक दमदार छवि इस समाज के समक्ष रखी जिसने कई दशकों से पाठकों का मनोरंजन किया और आज भी वो इन बुराइयों से लगातार लड़ रहा है. 85’वें जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं वेताल, चलते फिरते प्रेत और अंतर्राष्ट्रीय नायक ‘द फैंटम‘ (The Phantom), आभार – कॉमिक्स बाइट!!

Phantom No. 1-6 Paperback

Phantom No. 1-6 Paperback

यूरो बुक्स के फैंटम कलेक्शन के लिए संपर्क करें – MRPBOOKSHOP से, एक्सक्लूसिव हार्डकवर्स, सिंगल शॉट्स, 3 इन 1 एवं और भी बहुत कुछ!

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

Leave a Reply

error: Content is protected !!