फिक्शन कॉमिक्स – लघु कहानी एवं चित्रकला प्रतियोगिता (Fiction Comics Competitions)

नमस्कार मित्रों, प्रतियोगिताओं का दौर जारी है और उसी कड़ी में फिक्शन कॉमिक्स (Fiction Comics) लेकर आएं है ‘कहानी लिखों’ और ‘चित्रकला’ प्रतियोगिता. जी हाँ इस प्रतिस्पर्धा में आपको कुछ चीज़ों का ध्यान रखना होगा और उसकी सूचना क्रमबद्ध तरीके से दी जा रही है.

चित्रकला ‘फैन आर्ट’ प्रतियोगिता
  • इस प्रतियोगिता में आपको फिक्शन कॉमिक्स के किरदार राक्षसराज वर्धा का चित्र/स्केच बनाना है.
  • इसके अलावा और कोई अन्य किरदार मान्य नहीं होगा.
  • प्रतियोगिता की अंतिम तिथि 15 सितम्बर है.
  • आपको अपने चित्र इस ईमेल आईडी पर भेजने है – fictionkalamanch@gmail.com
  • विजेता या विजेताओं को मिलेगा फिक्शन कॉमिक्स की ओर से 10 फिक्शन कार्ड्स का सेट.
  • अंतिम निर्णय फिक्शन कॉमिक्स द्वारा सुरक्षित रहेगा.
Fiction Comics - Vardha

आप लोगों को सुविधा के लिए राक्षसराज वर्धा पर एक छोटा सा अंश फिक्शन कॉमिक्स की ओर से दिया जा रहा है ताकि आप इस किरदार को अच्छे से समझ सकें और इससे जुड़ सकें.

राक्षसराज वर्धा

राक्षसराज वर्धा शारीरिक रुप से फ़िक्शन काॅमिक्स का सबसे ताकतवर सुपरहीरो है, यह एक अलग आयाम से आया है। यह न केवल शारीरिक रुप से बलशाली है बल्कि कई मायावी शक्तियों का भी स्वामी है। वर्धा पहली बार नेक्टर सीरीज के काॅमिक्स कुलावा के अंतिम पृष्टों में नजर आया था जहां हम उसे अचेत अवस्था में देखते हैं।

राक्षसराज वर्धा - फिक्शन कॉमिक्स
आर्टवर्क: रवि आनंद
राक्षसराज वर्धा – फिक्शन कॉमिक्स
पोस्टर

इस परग्रही पर भारत सरकार गुप्त रुप से रिसर्च करने के लिए प्रोफेसर अमृतराज यानि द ब्रेन को नियुक्त करती हैं और द ब्रेन इस परग्रही के उर्जा तरंगों को रीड करते हैं एवं इस बात से उन्हें ज्ञात होता है कि ऐसी ही उर्जा के लक्षण उन्हें भैरोगढ़ से भी प्राप्त हो रहे हैं, तब वे अंकुश यानि ‘नेक्टर’ और दिव्या यानि ‘ब्लूआई’ को अपने सहयोगी अमोल खांडेकर के साथ भैरोगढ़ भेजते हैं. अमावस-नेक्टर सीरीज के प्रथम काॅमिक्स अमावस अलाईव में हम ‘वर्धा और काल योगिनी’ की एक छोटी सी फाइट देखते हैं इसके बाद क्या होने वाला है ये हमें वर्धा के आगामी काॅमिक्स मातृभूमि में पढ़ने को मिलेगा।

राक्षसराज वर्धा - फिक्शन कॉमिक्स - काल योगिनी
राक्षसराज वर्धा – काल योगिनी – फिक्शन कॉमिक्स

फिक्शन कॉमिक्स खरीदने के लिए लिंक पर क्लिक करें – फिक्शन कॉमिक्स

इसमें दिखाया जाएगा कि किस तरह वर्धा अपने ग्रह वापस पंहुचता है और अपने अतीत को तलाशता है किस तरह वो अपने आयाम से पृथ्वी पर आ गिरा था। उम्मीद है पाठक इस विवरण को पढ़कर किरदार से जुड़ पाएंगे और आर्टिस्ट्स को किरदार को गढ़ने में सहायता मिलेगी।

लघु कहानी प्रतियोगिता

चित्रकला के अलावा लेखकों के लिए भी लघु कथा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है जहाँ पर आप अपनी कलम का जादू चला कर फिक्शन कॉमिक्स के लिए एक छोटी कहानी लिख सकते है. इस प्रतियोगिता का नियम भी नीचे क्रमबद्ध तरीके से दिए जा रहे है.

  • कहानी 3-5 पृष्ठों की होगी.
  • कहानी का विषय हॉरर होगा.
  • एक रचनाकार अधिकतम 2 कहानियां भेज सकता है.
  • आप अपनी कहानियां इस ईमेल आईडी पर भेजने है – fictionkalamanch@gmail.com
  • तिथि – 15 सितम्बर से 22 सितम्बर 2020 तक मान्य.
  • चुने गए रचनाओं को फिक्शन कॉमिक्स द्वारा प्रकाशित किया जायेगा और साथ ही उनके रचनाकारों को फिक्शन कॉमिक्स की ओर से मिलेगा एक आकर्षक गिफ्ट.

उदाहरण के लिए जाने माने लेखक श्री ‘मिथलेश गुप्ता’ जी द्वारा लिखित और सूरज पॉकेट बुक्स के नॉवेल “वो भयानक रात” पर आधारित कॉमिक्स – ‘वो भयानक रात’ जो फिक्शन कॉमिक्स से हाल ही में प्रकाशित हुई है.

वो भयानक रात - मिथलेश गुप्ता - सूरज पॉकेट बुक्स - फिक्शन कॉमिक्स
आर्टवर्क – सुशांत पंडा – बसंत पंडा

ऐसा मौका बार बार नहीं मिलता, अगर आपके अंदर भी एक लेखक है, आपकी कलम भी बोलती है तो निकालिये “अपने कलम से एक हॉरर का शाहकार जिसे पढ़ने के बाद मुश्किल हो जाएँ खुद के ही दीदार“. सभी कॉमिक्स पाठकों और प्रशंसकों से निवेदन है की इस मौके का भी पूरा लाभ उठाएं, आभार – कॉमिक्स बाइट!!

Wo Bhayanak Raat (Hindi) Paperback

Wo Bhayanak Raat

Comics Byte

A passionate comics lover and an avid reader, I wanted to contribute as much as I can in this industry. Hence doing my little bit here. Cheers!

One thought on “फिक्शन कॉमिक्स – लघु कहानी एवं चित्रकला प्रतियोगिता (Fiction Comics Competitions)

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: